ड्रैगन फ्रूट का परिचय एवं इसके लाभ


सामान्य परिचय- ड्रैगन फ्रूट का वैज्ञानिक नाम हिलोकेरेस अंडटस है। यह दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। यह एक किस्म की बेल पर लगने वाला फल है, जो कैक्टेसिया फैमिली से संबंधित है। इसके तने गूदेदार और रसीले होते हैं। ड्रैगन फ्रूट दो प्रकार का होता है – सफेद गूदे वाला और लाल गूदे वाला। खास यह है कि इसके फूल बहुत ही सुगंधित होते हैं, जो रात में ही खिलते हैं और सुबह होने तक झड़ जाते हैं। इसके गुणों और फायदों को देखते हुए अब इसे पटाया, क्वींसलैंड, पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स में भी उगाया जाने लगा है। इसका उपयोग सलाद, मुरब्बा, जेली और शेक बनाकर किया जा सकता है।

ड्रेगन फ्रूट थाइलैंड, वियतनाम, इज़रायल और श्रीलंका में लोकप्रिय है। बाजार में 200 रु से 250 रु तक दाम मिलने की वजह से हाल के दिनों में भारत में भी इसकी खेती का प्रचलन बढ़ा है। कम वर्षा वाले क्षेत्र इसकी खेती के लिए उपयुक्त माने जाते हैं। ड्रेगन फ्रूट के पौधे का उपयोग सजावटी पौधे के साथ साथ ड्रेगन फ्रूट उपजाने के लिए होता है। ड्रेगन फ्रूट को ताजे फल के तौर पर खा सकते हैं साथ ही इस फल से जैम, आइस क्रीम, जैली, जूस और वाइन भी बना सकते हैं। सौंदर्य प्रसाधन के तौर पर भी इसे फेस पैक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

ड्रेगन फ्रूट की खेती के लिए उपयुक्त जलवायु- इसके लिए 50 सेमी वार्षिक औसत की दर से बारिश की जरूरत होती है जबकि 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान इसके लिए उपयुक्त माना जाता है। बहुत ज्यादा सूर्य का प्रकाश इसकी खेती के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। सूरज की रौशनी जिन इलाके में ज्यादा हो उन इलाकों में बेहतर उपज के लिए छायादार जगह में इसकी खेती की जा सकती है।

उपयुक्त मिट्टी- इस फल को रेतिली दोमट मिट्टी से लेकर दोमट मिट्टी तक नाना प्रकार के मिट्टियों में उपजाया जा सकता है। हालांकि बेहतर जिवाश्म और जल निकासी वाली बलुई मिट्टी इसकी उपज के लिए सबसे बेहतर है। ड्रेगन फ्रूट की खेती के लिए मिट्टी का पीएच मान 5.5 से 7 तक उपयुक्त माना जाता है।

ड्रैगन फ्रूट के फायदे

डायबिटीज में ड्रैगन फ्रूट के फायदे-
ड्रैगन फ्रूट में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव के साथ-साथ फ्लेवोनोइड, फेनोलिक एसिड, एस्कॉर्बिक एसिड और फाइबर होता है। ये सभी तत्व ब्लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। वहीं, जिन लोगों को डायबिटीज नहीं है, उनके लिए ड्रैगन फ्रूट्स का सेवन डायबिटीज से बचने का अच्छा तरीका हो सकता है।

हृदय के लिए ड्रैगन फ्रूट लाभदायक –
डायबिटीज दुनिया के सबसे खतरनाक रोगों में से एक है। कुछ मामलों में यह हृदय रोग का कारण भी बन सकती है। डायबिटीज के कारण हृदय रोग होने के पीछे शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का बढ़ता प्रभाव भी एक वजह होता है। ऐसे में एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर फल और सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है और ऐसे ही फलों में ड्रैगन फल का नाम भी शामिल है। ड्रैगन फ्रूट्स बीटालायंस, पॉलीफेनोल्स और एस्कॉर्बिक एसिड जैसे प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट से युक्त होता है, जिस कारण यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का प्रभाव कम करके हृदय को सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके अलावा, ड्रैगन फ्रूट में पाए जाने वाले छोटे-छोटे काले बीज ओमेगा-3 और ओमेगा-9 फैटी एसिड के अच्छे स्रोत हैं, जो हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते है।

कैंसर में लाभदायक ड्रैगन फ्रूट –
शोधकर्ताओं के मुताबिक, ड्रैगन फ्रूट के फायदे कैंसर में आराम पाने में देखे गए हैं। इसमें एंटीट्यूमर, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण देखे गए हैं। साथ ही इस पर किए गए प्रयोग में भी पाया गया कि ड्रैगन फ्रूट में पाए जाने वाले ये खास गुण महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से बचाने में मदद कर सकते हैं। कैंसर एक खतरनाक बीमारी है और ड्रैगन फ्रूट का उपयोग इसका उपचार नहीं है। इस समस्या के लिए डॉक्टर से परामर्श करके सही ट्रीटमेंट लेना जरूरी है।

पेट संबंधी समस्याओं में लाभदायक –
ड्रैगन फ्रूट बेनिफिट्स पेट संबंधित समस्याओं से आराम पाने में भी मिल सकते हैं। दरअसल, इसमें मौजूद ओलिगोसैकराइड (एक तरह का केमिकल कंपाउंड) में प्रीबायोटिक गुण पाए जाते हैं, जो आंत में हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। इससे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है। ये पेट और आंत के अच्छे माइक्रोबायोम को बढ़ावा देते हैं। इससे पेट और आंत से जुड़े विकारों को दूर रखने में और पेट व आंत को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिल सकती है।इसके साथ ही ड्रैगन फ्रूट्स फाइबर और कई विटामिन से युक्त होता है, जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

इम्यूनिटी के लिए ड्रैगन फल के फायदे –
इम्यूनिटी को रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कहा जाता है। यह हमें कई रोगों से बचाने में मदद कर सकती है। इम्यूनिटी सिस्टम शरीर के कुछ खास अंग, सेल और केमिकल से मिल कर बनी होता है और संक्रमण को खत्म करने में मदद करता है। इस क्षमता को बढ़ाने में भी ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे देखे गए हैं। मन जाता है कि ड्रैगन फ्रूट में मौजूद विटामिन-सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनता है। इससे शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाया जा सकता है।

गर्भावस्था में लाभदायक –
लोगों के मन में यह सवाल आता होगा कि ड्रैगन फ्रूट प्रेगनेंसी में खाना चाहिए या नहीं, तो हम बता दें कि गर्भवती महिला के लिए भी ड्रैगन फ्रूट खाने के फायदे देखे गए हैं। गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में एनीमिया के कारण खून की कमी होना आम समस्या है। ऐसा शरीर में आयरन की कमी से हो सकता है। ऐसे में शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी हो जाती है, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं। गर्भावस्था में एनीमिया कई गंभीर समस्याओं जैसे गर्भपात, जन्म के समय शिशु की मृत्यु, समय से पहले प्रसव और अन्य समस्याओं का कारण बन सकता है। वहीं, ड्रैगन फ्रूट में आयरन की मात्रा पाई जाती है, जो गर्भवती महिलाओं में एनीमिया की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है। ड्रैगन फ्रूट का उपयोग सामान्य समय में भी आयरन की कमी को पूरा करने और एनीमिया से राहत पाने के लिए किया जा सकता है।

Mr. Vinay Kumar Singh, Assistant Professor, School of Agricultural Sciences, Career Point University, Kota

One thought on “ड्रैगन फ्रूट का परिचय एवं इसके लाभ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *